जंगल रम्मी.कॉम प्रीमियम

जंगल रम्मी.कॉम प्रीमियम

time:2021-10-27 12:09:32 रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत Views:4591

शतरंज का कमरा कैसे खोलें जंगल रम्मी.कॉम प्रीमियम 188bet एपीके डाउनलोड,casumo कोटियूटस,लीवगैस निकासी समीक्षा,lovebet जमा करने के तरीके,lovebet विकल्प और अर्थ,lovebet.com पंजीकरण,एयू क्रिकेट स्कोर,बैकरेट गेम स्टैंड-अलोन गेम डाउनलोड,बैकारेट जीतने की रणनीति,सट्टेबाजी की भविष्यवाणी,कैसीनो दा पोवोआ,कैसीनो एक्सबॉक्स गेम्स,कॉम फुटबॉल टीम,क्रिकेट समाचार हिंदी,ई-स्पोर्ट्स एसोसिएशन,प्रसिद्ध सट्टेबाजी,फुटबॉल सिफारिश साइट,जेनेसिसकैसीनो क्षेत्र,फ़ुटबॉल बाधाओं की गणना कैसे करें,आईपीएल शेड्यूल 2021,जैकपॉटक्सो,लाइव कैसीनो बोनस,लॉटरी 6 रुपये,लूडो एपीके मोड,नेटेंट जैकपॉट गेम्स,ऑनलाइन मनोरंजन बोनस पाने के लिए खाता खोलें,असली पैसे के लिए ऑनलाइन पोकर खेलें,परिमच मूवी ऐप,पोकर किट,रील स्लॉट लोगो,72 . का नियम,रम्मी जैदीमास,स्लॉट मशीन पेआउट शेड्यूल,स्पोर्ट्स औ बाकू,चार्ल्सटन मेनू की स्पोर्ट्सबुक,टेक्सास होल्डम प्रश्न,ट्रांसपोर्टस्टीलसेन,सट्टेबाज की सट्टेबाजी की मात्रा कहाँ है?,याकूब 5 बैकारेटो,ऑनलाइन गेम jio phone,क्रिकेट live स्कोर,गोवा ढोल,तीन पत्ती एप,बकरा गीत,बेताब दिल शायरी,लॉटरी संभव, .रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत

आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं.
नई दिल्‍ली : देशभर में लॉकडाउन के चलते लाखों लोगों की नौकरियां चली गई थीं. अब स्थिति सुधरती दिख रही है. आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं. इसके शुरुआती संकेत मिलने लगे हैं. जिन लोगों ने कर्मचारी भविष्‍य निधि (ईपीएफ) स्‍कीम को छोड़ा था, वे वापस इससे जुड़ रहे हैं. इस साल जून में ऐसे मेंबर्स की संख्‍या अब तक सबसे ज्‍यादा रही है. वहीं, स्‍कीम छोड़ने वालों की संख्‍या में भी तेज गिरावट आई है.

जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है. आधिकारिक आंकड़ों से इसका पता चलता है. पेरोल के आंकड़े दिखाते हैं कि जून में स्‍कीम से 4.54 लाख मेंबर्स ईपीएफओ से निकले और दोबारा से जुड़ गए. मई में यह आंकड़ा 3.14 लाख और अप्रैल में 2.51 लाख रहा था. पिछले वित्‍त वर्ष में यह औसत 6.5 लाख रहा है.

इसे भी पढ़ें : इस साल हर दस में से सिर्फ 4 कंपनी ने दिया इंक्रीमेंट : सर्वे

स्‍कीम से निकलने वालों की संख्‍या में भी गिरावट आई है. जून में यह 2.99 लाख रही है. इसकी तुलना में मई में यह 4.45 लाख और अप्रैल में 4.08 लाख रही थी. ये आंकड़े देश में संगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति को बयान करते हैं.

जून में ईपीएफओ से कुल 6.55 लाख नए सब्‍सक्राइबर जुड़े. अप्रैल में यह संख्‍या महज 20 हजार और मई में 1.72 लाख रही थी. केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कियान्‍वयन मंत्रालय के आंकड़ों से इसका पता चलता है. वित्‍त वर्ष 2019-20 में औसतन हर महीने 10 लाख नए सब्‍सक्राइबर स्‍कीम से जुड़े. वहीं, जून 2019 में कुल 12 लाख लोग स्‍कीम से जुड़े थे.

इसे भी पढ़ें : इन 8 वेबसाइट से आप कर सकते हैं ऑनलाइन कोर्स, करियर संवारने में मिलेगी मदद

25 मार्च से देश में तीन हफ्तों के लिए देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया था. इसे बाद में कुछ रियायतों के साथ बढ़ाया जाता रहा. एक मई से सरकार ने अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की. इसके तहत चरणबद्ध तरीके से बंदिशों को हटाया जा रहा है.

आंकड़ों के अनुसार, जून में ईएसआईसी से जुड़ने वालों की संख्‍या 7.92 लाख रही. में यह 4.76 लाख, जबकि अप्रैल में 2.58 लाख थी. वैसे, नए लोगों के जुड़ने का आंकड़ा कोरोना से पहले के स्‍तर से अब भी कम है. 2019-20 में स्‍कीम से हर महीने जुड़ने वालों का औसत आंकड़ा 12 लाख से ज्‍यादा था.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

रोजगार के हालातईपीएफओईएसआईसीकर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीमकर्मचारी भविष्‍य न‍िधि संगठन

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है.अच्‍छे ब्रांड से दो साल का एमबीए मार्केट की बदली हुई स्थितियों में काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. एमबीए की डिग्री आपको विश्‍वसनीयता हासिल करने में मदद करती है. फिर चाहे आपने किसी भी सेक्‍टर में काम किया हो.नेशनल रिटेल पॉलिसी से 4 साल में पैदा होंगी 30 लाख नौकरियां : सीआईआई

कई ग्राहक मोरेटोरियम और उससे पड़ने वाले असर को नहीं समझते हैं. इसे देखते हुए कलेक्‍शन में बाधा आई है.रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण अब तक परीक्षा आयोजित नहीं कराई जा सकी थी.कितनी सेफ है आपकी जॉब? खतरों के इन 7 संकेतों के बारे में जान लें

सैलरी कब अपने स्‍तर पर लौटेंगी, यह आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने पर निर्भर करेगा. डेलॉयट के सर्वे में शामिल 75 फीसदी संस्‍थानों ने मौजूदा अनिश्चितता को देखते हुए वेतनवृद्धि में किसी तरह के अनुमान जाहिर करने से इंकार कर दिया.कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण विभिन्न क्षेत्रों में छंटनी, वेतन में कटौती या कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी रुक गई है. हालांकि, कई बड़े निजी क्षेत्र के बैंकों ने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है.नेशनल रिटेल पॉलिसी से 4 साल में पैदा होंगी 30 लाख नौकरियां : सीआईआई

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
फुटबॉल लॉटरी english

इसके साथ ही देश के इस सबसे बड़े बैंक ने कहा कि वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्‍कीम (वीआरएस) लागत में कटौती करने के लिए नहीं है.

फ़ुटबॉल एकल गेम स्कोर अनुशंसा

कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण विभिन्न क्षेत्रों में छंटनी, वेतन में कटौती या कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी रुक गई है. हालांकि, कई बड़े निजी क्षेत्र के बैंकों ने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है.

क्लासिक रम्मी के लिए नियम

2020 के पहले छह महीनों में केपजेमिनी ने 9,500 लोगों की भर्ती की है. सेकेंड हाफ में उसकी 13,500 लोगों को रिक्रूट करने की योजना है.

कॉमोन बोनस कोड 2021

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.

लाइव रूले बेल्जियम

कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी