परिमच बेट एपीके डाउनलोड

परिमच बेट एपीके डाउनलोड

time:2021-10-27 11:49:32 क्‍या आप एमबीए करना चाहते हैं? ये 6 बातें करेंगी आपकी मदद Views:4591

वाइल्डज़ वापसी का समय परिमच बेट एपीके डाउनलोड betway हेड ऑफिस,fun88 स्लॉट,lovebet 5 जैकपॉट भविष्यवाणी,lovebet इंडिया लीगल,lovebet द होम ऑफ बेटिंग,3 रील स्लॉट अनलॉक,बैकरेट स्वचालित सट्टेबाजी सॉफ्टवेयर,बैकारेट पैराडाइज,बेस्ट ऑफ़ फाइव है या नहीं 2020,ब्रफ़ुटबॉल,कैसीनो लोगो,शतरंज का दिन,क्रिकेट पुस्तक समीक्षा,क्रिकेट जिम बनाम पाकिस्तान,यूरोपीय कप सट्टेबाजी अनुपात,फुटबॉल सट्टेबाजी के नियम,गा शतरंज कैलेंडर,खुश किसान रसोई खाद,मैं स्लॉट.एलवी,जैकेट पीएनजी,ला पोकर टूर्नामेंट,लाइव डीलर गेम्स,लॉटरी लाइव खेला,एम शतरंज का खेल,ऑनलाइन कैसीनो baccarat,ऑनलाइन गेम दो खिलाड़ी,ऑनलाइन स्लॉट मोबाइल जमा,पोकर 2 जोड़ी नियम,पोकर वर्ल्ड,रूले ऑनलाइन ऐप,रम्मी सम्राट,रूसी लीग सी स्कोर,कंप्यूटर में स्लॉट,चाँद पर खेले जाने वाले खेल,तीन पत्ती हाथ,नवीनतम मकाऊ यात्रा गाइड,आभासी क्रिकेट खेल ऑनलाइन,वाइल्डज़ जैमिन जार,lovebet डाउनलोड,करीना यादव,क्रिकेट स्कोर बताएं,जबकि अर्थ,पासा सवाल,बरसात लव शायरी,रमी सर्किल गेम कैसे खेलते हैं,स्टेटस पिक्चर्स, .क्‍या आप एमबीए करना चाहते हैं? ये 6 बातें करेंगी आपकी मदद

एमबीए करने के लिए आपके पास मजबूत कारण होना चाहिए.
क्‍या आप एमबीए करना चाहते हैं? अगर हां तो इसके लिए सही तैयारी और जानकारी दोनों जरूरी हैं. एमएबीए की डिग्री आपके करियर को पंख लगा सकती है. यहां हम बता रहे हैं कि अच्‍छे बी-स्‍कूल से एमबीए करने के लिए आप कैसे तैयारी कर सकते हैं.

1. अभी बी-स्‍कूल क्‍यों?
एमबीए करने के लिए आपके पास मजबूत कारण होना चाहिए. मौजूदा स्थितियों से भागना इसके पीछे वजह नहीं होनी चाहिए. इसके लिए पहला ठोस कारण यह हो सकता है कि आप फाइनल ईयर के स्‍टूडेंट या फ्रेश ग्रेजुएट हों और अच्‍छी शुरुआत करने के लिए मौका न मिल रहा हो.

अच्‍छे ब्रांड से दो साल का एमबीए मार्केट की बदली हुई स्थितियों में काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. पहली अच्‍छी नौकरी जरूरी है. यह हर साल आपकी सैलरी को कई गुना रफ्तार से बढ़ाती है. एमबीए करने का दूसरा कारण यह हो सकता है कि आप कर‍ियर में स्विच करना चाहते हैं क्‍योंकि या तो आपको वह पसंद नहीं है या फिर जिस इंडस्‍ट्री में आप काम करते हैं, उसे काफी नुकसान हुआ है. यह इंडस्‍ट्री ट्रैवल, हॉस्पिटैलिटी या टेलीकॉम हो सकती है.

एमबीए की डिग्री आपको विश्‍वसनीयता हासिल करने में मदद करती है. फिर चाहे आपने किसी भी सेक्‍टर में काम किया हो. अंतिम कारण यह हो सकता है कि आप अपने डोमेन में स्‍पेशलिस्‍ट बनकर रहने के बजाय सामान्‍य प्रबंधन करना चाहते हैं. इसके अलावा कोई दूसरा कारण एमबीए करने के लिए नहीं होना चाहिए. याद रखें कि एमबीए करना ज्‍यादा पैसा बनाने की गारंटी नहीं है.

2. कैसे करें बी-स्‍कूल का चयन?
सबसे पहले देख लें कि आप किस देश में अपना करियर बनाना चाहते हैं? अधिकतम अवसरों के लिए उसी देश में एमबीए प्रोग्राम चुनें. इसके बाद सबसे विश्‍वसनीय एमबीए ब्रांडों का पता लगाएं. यह काम न्‍यूज आर्टिकल और एमबीए कर चुके छात्रों से बातचीत के माध्‍यम से किया जा सकता है. वह ब्रांड आपके सीवी में जीवनभर रहेगा. इसमें कितनी लागत आएगी, अवधि कितनी होगी (एग्‍जीक्‍यूटिव के लिए दो साल या उससे कम), एजुकेशन लोन कितना लेना होगा, एमबीए प्लेसमेंट कैसा है और परिवार से दूरी, ये कुछ और फैक्‍टर हैं, जिन्‍हें देखने की जरूरत होगी.

3. टाइम मैनेजमेंट कैसे करें?
अंत में अपनी पसंद के कॉलेज में दाखिले के लिए तैयारी शुरू कर दें. हर एक एमबीए प्रोग्राम में चयन की अलग-अलग जरूरतें होती हैं. कड़ी डेडलाइन रखी जाती हैं. यह फेज पूरी तरह से समय और ऊर्जा के प्रबंधन से जुड़ा है. यदि आप नौकरी छोड़ते समय या अपने कॉलेज शेड्यूल को संतुलित करते हुए कई एप्‍लीकेशनों पर विचार कर रहे हैं, तो यह एक कठिन काम है. यानी पहले प्रयास में कामयाबी मिले, इसकी गारंटी नहीं है. तमाम एमबीए में आवेदन प्रक्रिया के विभिन्न चरणों के लिए समयसीमा नोट करें. योग्यता को पूरा करने के लिए पर्याप्त समय लेकर चलें.

4. टेस्‍ट में कैसे पाएं कामयाबी?
एमबीए में दाखिले के लिए आमतौर पर प्रवेश परीक्षा के स्‍कोर की जरूरत होती है. इंटरनेशनल और एग्‍जीक्‍यूटिव एमबीए के लिए यह आमतौर पर जीमैट होता है. जबकि भारतीय बी-स्कूलों के लिए यह कैट/ सीईटी/ मैट/अन्य हो सकता है. जीमैट के लिए 700+ स्कोर काफी अच्‍छा है. इसे गंभीरता से लिया जाता है. भारत में एमबीए के लिए टेस्‍ट स्कोर अक्सर इंटरव्‍यू के लिए शॉर्टलिस्ट करने का सबसे बड़ा फैक्‍टर होता है. अच्‍छा स्‍कोर सुनिश्चित करने के दो आसान तरीके हैं.

पहला, लगभग 30 उच्च गुणवत्ता वाले मॉक प्रश्न पत्र और उनका हल जुटा लें. हर दिन कम से कम एक का हल करें और उन प्रश्नों के समाधान में महारत हासिल करें, जो आपको अटकाते हैं. एक बार जब आप पूरे लॉट को खत्म कर लें तो पहले पेपर पर वापस जाएं और प्रक्रिया को दोहराएं. दो-तीन महीने में तीन से चार साइकिल पूरे करें. दूसरा चरण तैयारी के लिए अनुशासन खोजना है. अनुशासन के लिए आप कोचिंग क्‍लास ज्‍वाइन कर सकते हैं.

5. निबंध लेखन में कुशलता कैसे हासिल करें?
अब आपके प्रयास टीम पर निर्भर करेंगे. यह काम अकेले न करें. अगर चयन प्रक्रिया में आपके जीवन और करियर के बारे में सवालों के जवाब में कुछ निबंधों की आवश्यकता होती है तो आपको अपने काम को पढ़वाने के लिए लोगों की जरूरत होगी. लेखन के लिए सही नजरिया अपने जीवन और प्रेरणाओं की समीक्षा करना और इसे कहानीकार की तरह बताना है.

6. बातचीत में कैसे कुशल बनें?
इंटरव्‍यू प्रोसेस अंतिम बाधा है और वर्तमान में यह वीडियो कॉल पर हो रही है. यह भी एक महत्वपूर्ण टीम वर्क है. निबंध सब्मिट करने के बाद इंटरव्‍यू में शॉर्टलिस्ट की प्रतीक्षा न करें. 100 स्‍टैंडर्ड एमबीए इंटरव्‍यू क्‍वेस्‍चन डाउनलोड करें और तुरंत मॉक इंटरव्यू शुरू कर दें. इसके लिए परिवार के सदस्‍यों और मित्रों की मदद ली जा सकती है.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

एमबीएइंटरव्‍यू प्रोसेसनिबंध लेखन

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

2020 के पहले छह महीनों में केपजेमिनी ने 9,500 लोगों की भर्ती की है. सेकेंड हाफ में उसकी 13,500 लोगों को रिक्रूट करने की योजना है.कर्मचारियों की छंटनी की खबर ऐसे समय आई जब एक महीने पहले ही हरदयाल प्रसाद ने कंपनी में चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव का पद संभाला है. उन्‍होंने अंतरिम प्रमुख नीरज व्‍यास की जगह ली है.बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण विभिन्न क्षेत्रों में छंटनी, वेतन में कटौती या कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी रुक गई है. हालांकि, कई बड़े निजी क्षेत्र के बैंकों ने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है.कोविड से पहले के स्‍तर पर पहुंची कंपनियों में भर्ती : सर्वे

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.सामान्‍य सिप के मामले में निवेशक सिप की अवधि में अपना कॉन्ट्रिब्‍यूशन नहीं बढ़ा सकते हैं. अगर वे इसे बढ़ाना चाहते हैं तो उन्‍हें नए सिरे से सिप शुरू करना होगा या एकमुश्त निवेश करने की जरूरत होगी.प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन की सभी स्कीमों से निकलने की दी सलाह

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet एशिया

निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.

क्या ऑनलाइन लाठी खेल सामान्य की तरह ही खेलता है?

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

क्रिकेट गुरु

पेटीएम के सीएचआरओ रोहित ठाकुर ने ईटी को बताया कि पिछले तीन से चार महीनों में कंपनी ने करीब 700 लोगों की भर्ती की है. इन्‍हें ऑनलाइन रिक्रूट किया गया है.

आईपीएल जीराम 27

पेटीएम के सीएचआरओ रोहित ठाकुर ने ईटी को बताया कि पिछले तीन से चार महीनों में कंपनी ने करीब 700 लोगों की भर्ती की है. इन्‍हें ऑनलाइन रिक्रूट किया गया है.

आर/फुटबॉलडाउनलोड

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी